@moneyyukti Dharmesh Parmar

US Dollar के मुकाबले Indian Rupee 3 पैसे बढ़कर 83.37 पर पहुंच गया।

US Dollar – Indian Rupee विदेशी फंडों के निरंतर प्रवाह और घरेलू इक्विटी  बाजार में तेजी के माहौल के बीच सोमवार को शुरुआती कारोबार में US Dollar  के मुकाबले रुपया 3 पैसे बढ़कर 83.37 पर पहुंच गया। 

Forex Traders व्यापारियों के अनुसार, हालांकि, कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी से Indian Currency पर असर पड़ा। 

Interbank Foreign Exchange Market में, स्थानीय इकाई Doller के मुकाबले  83.39 पर खुली और पिछले बंद से 3 पैसे ऊपर 83.37 पर पहुंच गई। शुक्रवार को  US Doller के मुकाबले रुपया 4 पैसे टूटकर 83.40 पर बंद हुआ। 

Motilal Oswal Financial Services के Forex और Bullion Analyst Gaurang  Somaiya ने कहा कि निवेशक इस सप्ताह घोषित होने वाले US Federal Reserve और  अन्य Central Banks के मौद्रिक नीति निर्णयों पर कड़ी नजर रखेंगे। 

गवर्नर की टिप्पणी प्रमुख क्रॉस के दृष्टिकोण को देखने और मापने के लिए  महत्वपूर्ण होगी। आज, अस्थिरता कम रह सकती है क्योंकि US से कोई प्रमुख  आर्थिक डेटा जारी होने की उम्मीद नहीं है। 

हम उम्मीद करते हैं Somaiya ने कहा, USD-INR (spot) बग़ल में व्यापार करेगा  और 83.20 और 83.50 की सीमा में बोली लगाएगा। इस बीच, Doller सूचकांक, जो  छह मुद्राओं की एक टोकरी के मुकाबले Greenback’s की ताकत का अनुमान लगाता  है, 0.03 प्रतिशत बढ़कर 103.66 पर कारोबार कर रहा था। 

घरेलू इक्विटी बाजार में 30 Share वाला BSE Sensex सोमवार को पहली बार  70,000 के स्तर को पार कर गया और 198.72 अंक या 0.28 प्रतिशत बढ़कर  70,024.32 अंक पर कारोबार कर रहा था। व्यापक NSE Nifty भी 39.70 अंक या  0.19 प्रतिशत उछलकर 21,009.10 अंक पर पहुंच गया। 

एक्सचेंज डेटा के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक (FIIs) शुक्रवार को पूंजी  बाजार में शुद्ध खरीदार थे, क्योंकि उन्होंने 3,632.30 करोड़ रुपये के  Share खरीदे। 

शुक्रवार को, Reserve Bank of India (RBI) ने Benchmark पुनर्खरीद दर को  6.5 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रखा और चालू वित्त वर्ष के लिए खुदरा  मुद्रास्फीति के अनुमान को 5.4 प्रतिशत पर बरकरार रखा। 

RBI के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, 1 दिसंबर को India का Foreign Exchange  भंडार बढ़कर 604 Billion US Doller हो गया, जो लगभग चार महीने के अंतराल के  बाद 600 Billion US Doller के आंकड़े को पार कर गया। 

Other Stories