US Dollar के मुकाबले Indian Rupee 3 पैसे बढ़कर 83.37 पर पहुंच गया।

US Dollar – Indian Rupee विदेशी फंडों के निरंतर प्रवाह और घरेलू इक्विटी बाजार में तेजी के माहौल के बीच सोमवार को शुरुआती कारोबार में US Dollar के मुकाबले रुपया 3 पैसे बढ़कर 83.37 पर पहुंच गया। Forex Traders व्यापारियों के अनुसार, हालांकि, कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी से Indian Currency पर असर पड़ा।

US Doller Indian Rupee

Interbank Foreign Exchange Market में, स्थानीय इकाई Doller के मुकाबले 83.39 पर खुली और पिछले बंद से 3 पैसे ऊपर 83.37 पर पहुंच गई। शुक्रवार को US Doller के मुकाबले रुपया 4 पैसे टूटकर 83.40 पर बंद हुआ। Motilal Oswal Financial Services के Forex और Bullion Analyst Gaurang Somaiya ने कहा कि निवेशक इस सप्ताह घोषित होने वाले US Federal Reserve और अन्य Central Banks के मौद्रिक नीति निर्णयों पर कड़ी नजर रखेंगे।

गवर्नर की टिप्पणी प्रमुख क्रॉस के दृष्टिकोण को देखने और मापने के लिए महत्वपूर्ण होगी। आज, अस्थिरता कम रह सकती है क्योंकि US से कोई प्रमुख आर्थिक डेटा जारी होने की उम्मीद नहीं है। हम उम्मीद करते हैं Somaiya ने कहा, USD-INR (spot) बग़ल में व्यापार करेगा और 83.20 और 83.50 की सीमा में बोली लगाएगा। इस बीच, Doller सूचकांक, जो छह मुद्राओं की एक टोकरी के मुकाबले Greenback’s की ताकत का अनुमान लगाता है, 0.03 प्रतिशत बढ़कर 103.66 पर कारोबार कर रहा था। वैश्विक तेल बेंचमार्क ब्रेंट क्रूड वायदा 0.59 प्रतिशत बढ़कर 76.29 US Doller प्रति बैरल पर पहुंच गया।

घरेलू इक्विटी बाजार में 30 Share वाला BSE Sensex सोमवार को पहली बार 70,000 के स्तर को पार कर गया और 198.72 अंक या 0.28 प्रतिशत बढ़कर 70,024.32 अंक पर कारोबार कर रहा था। व्यापक NSE Nifty भी 39.70 अंक या 0.19 प्रतिशत उछलकर 21,009.10 अंक पर पहुंच गया। एक्सचेंज डेटा के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक (FIIs) शुक्रवार को पूंजी बाजार में शुद्ध खरीदार थे, क्योंकि उन्होंने 3,632.30 करोड़ रुपये के Share खरीदे।

शुक्रवार को, Reserve Bank of India (RBI) ने Benchmark पुनर्खरीद दर को 6.5 प्रतिशत पर अपरिवर्तित रखा और चालू वित्त वर्ष के लिए खुदरा मुद्रास्फीति के अनुमान को 5.4 प्रतिशत पर बरकरार रखा। RBI के नवीनतम आंकड़ों के अनुसार, 1 दिसंबर को India का Foreign Exchange भंडार बढ़कर 604 Billion US Doller हो गया, जो लगभग चार महीने के अंतराल के बाद 600 Billion US Doller के आंकड़े को पार कर गया।

शेयर मार्केट कैसे सीखे?

Disclaimer: moneyyukti केवल सूचनात्मक उद्देश्यों के लिए शेयर बाजार समाचार प्रदान करता है और इसे निवेश सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए। पाठकों को कोई भी निवेश निर्णय लेने से पहले एक योग्य वित्तीय सलाहकार से परामर्श करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

होम पेजयहां क्लिक करें
Join Us On Google NewsJoin Now
Follow On InstagramJoin Now
Follow On FacebookJoin Now
Follow On YouTubeJoin Now
Follow On TwitterJoin Now
Follow On PinterestJoin Now
Follow On DailyMotionJoin Now

Spread the love

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top